स्‍मार्टफोन ले रहे हैं तो इन बातों का रखें ख्‍याल

smartphone

इन्फोपत्रिका टेक् डेस्क


स्‍मार्टफोन में बहुत से फीचर होते हैं जो इसकी गुणवत्‍ता को बढाते हैं. इसके कुछ ऐसे मुख्‍य फीचर भी  होते हैं, जिनका ध्‍यान इसे खरीदते वक्‍त जरूर रखना चाहिए. ये स्‍मार्टफोन के ऐसे गुण हैं जो इसकी क्‍वालिटी को बढाते हैं तथा इसे यूजफुल बनाते हैं. ये हैं –

प्रोसेसर

फोन की प्रोसेसिंग पावर कई चीजों पर निर्भर करती है। अगर आप हेवी यूजर हैं तो क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 652 या स्नैपड्रैगन 820/821 प्रोसेसर वाले स्मार्टफोन खरीदें। लाइट यूजर्स मीडियाटेक प्रोसेसर वाले स्मार्टफोन भी खरीद सकते हैं।

डिस्प्ले

अगर आप विडियो स्ट्रीम करते हैं, फोटो और विडियो एडिट करते हैं या मूवीज वगैरह डाउनलोड करते हैं तो आपको 5.5 इंच या 6 इंच डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन लेना चाहिए। अगर आप ईमेल चेक करने, ब्राउजिंग करने या चैटिंग के सौकीन हैं तो 5 से साढ़े 5 इंच डिस्प्ले वाला फोन ही ठीक है।

बिल्ड क्वॉलिटी

फोन कितना चलेगा, कितना मजबूत है, यह बिल्ड क्वॉलिटी के ऊपर निर्भर करता है। इस वक्त आपको मार्केट में दो तरह की बिल्ड क्वॉलिटी के फोन मिलेंगे- प्लास्टिक और मेटल। कुछ ऐसे स्मार्टफोन्स भी हैं, जिनकी बॉडी ग्लास कोटेड है। अगर आपसे फोन गिरता रहता है तो मेटल या प्लास्टिक बॉडी वाला स्मार्टफोन लेने में ही भलाई है। ऐसे फोन 2 से 3 फीट की ऊंचाई से गिरने पर भी सुरक्षित रहते हैं, जबकि ग्लास कोटेड स्मार्टफोन टूट जाते हैं।

कैमरा

फोन के कैमरे में मेगापिक्सल ज्यादा हों तो इसका मतलब यह नहीं है कि कैमरा अच्छा है। कई सारे स्पेसिफिकेशंस हैं जो कैमरे को को बेहतर बनाते हैं। जैसे कि कैमरा अपर्चर, ISO लेवल, पिक्सल साइज और ऑटोफोकस। 16 मेगापिक्सल कैमरा जरूरी नही कि 12 मेगापिक्सल कैमरे से अच्छा हो। फोटोग्राफी पसंद करने वाले लोग 12 या 16 मेगापिक्सल वाले कैमरे में f/2.0 या कम अपर्चर चाहेंगे ताकि कम लाइट में भी अच्छी तस्वीरें खींच सकें। कैजुअल शूटर्स के लिए 8MP या 12MP कैमरा, जिसका अपर्चर f/2.0-f/2.2 हो, भी ठीक रहेगा।

बैटरी

है। अगर आप हेवी यूजर हैं तो 3,500 mAh से ज्यादा बैटरी वाला फोन खरीदें। ऐवरेज या लाइट यूजर्स के लिए 3000 mAh की बैटरी भी पूरी दिन निकाल देगी।

स्टोरेज

अगर आप कम ऐप्स रखते हैं तो 32 जीबी मेमरी वाला स्मार्टफो खरीद सकते हैं। अगर बहुत ज्यादा ऐप्ल इस्तमाल करते हैं तो 64 जीबी या 128 जीबी वाले वैरियंट्स ही खरीदें। 16 जीबी वाला मॉडल तभी खरीदें, जब माइक्रोएसडी कार्ड लगाने का फीचर दिया गया हो।

हेडफोन जैक/ यूएसबी पोर्ट

मार्केट में माइक्रो-यूएसबी और यूएसबी टाइप-C पोर्ट वाले स्मार्टफोन उपलब्ध हैं। आजकल यूएसबी टाइप-सी वाला स्मार्टफोन लेना ही ठीक है, क्योंकि यह प्लग करने में भी आसान होता है और फ्यूचर प्रूफ भी है।


ये वीडियो भी देखिए- पंजाबी सूट पहने महिला ने धोया पहलवान को

स्पीकर

स्पीकर और ऑडियो क्वॉलिटी उन लोगों के लिए जरूरी फीचर है, जो विडियो स्ट्रीमिंग करते हैं या विडियो कॉन्फ्रेंसिंग करते हैं। ऐसा स्मार्टफोन खरीदें, जिसमें स्पीकर सामने लगे हों। इससे आपको साफ आवाज सुनाई देगी। अगर आप विडियो स्ट्रीमिंग या विडियो कॉन्फ्रेंसिंग नहीं करते तो बॉटम फायरिंग स्पीकर वाला फोन भी आपके लिए ठीक रहेगा। अगर स्पीकर बैक में हों, तब भी कोई दिक्कत नहीं होगी।

सिक्यॉरिटी फीचर्स

आजकल ज्यादातर स्मार्टफोन एक्स्ट्रा सिक्यॉरिटी फीचर्स के साथ आते हैं, जैसे कि फिंगरप्रिंट सेंसर और आइरिस सेंसर। ये सिर्फ लॉक या अनलॉक करने की ही काम नहीं आते, बल्कि फाइल्स या ऐप्स के लिए पासवर्ड का काम भी करते हैं।
[related_post themes=”flat”]

Leave a Reply

loading...