धान में Neck Blast : ट्राईसाइक्‍लेजोल के बेहतरीन विकल्‍प हैं ये Fungicide

Neck Blast

इन्‍फोपत्रिका खेती डेस्‍क


भारतीय बासमती चावल के निर्यात को कीटनाशकों का डंक लगा है। पिछले साल जहां यूरोपीय यूनियन के देशों ने कीटनाशक संबंधित अपने नियम कड़े कर दिए वहीं इस बार संयुक्‍त अरब अमीरात ने भी यू‍रोपीय यूनियन के नियमों को अपना लिया। भारतीय बासमती चावल में ट्राईसाइक्‍लेजोल (tricyclazole) नाम फंफूदीनाशक की मात्रा ज्‍यादा पाई जाती है। बासमती धान की सभी वैरायटियों में ट्राईसाइक्‍लेजोल का प्रयोग गर्दन तोड़ (Neck Blast) रोग की रोकथाम के लिए किया जाता है। बीम नाम से प्रचलित यह फंफूदीनाशक सस्‍ता भी है और गर्दन तोड़ पर सबसे प्रभावी भी माना जा जाता है। लेकिन अब ट्राइसाइक्‍लोजोल ने बासमती चावल के निर्यात पर ही ग्रहण लगा दिया है।

ट्राईसाइक्‍लेजोल की जगह इन्‍हें अपनाएं

Tebuconazole व Trifloxystrobin

गर्दन तोड़ के प्रभावी नियंत्रण के लिए ट्राईसाइक्‍लेजोल का एक अच्‍छा विकल्‍प Tebuconazole 50%+ Trifloxystrobin 25% (75 WG) है। बायर क्रॉप साइंस इसे नेटिवो (Nativo) ब्रांड नाम से बेचती है। एक एकड़ में 100 ग्राम दवा का छिड़काव काफी है। इसका प्रति एकड़ खर्च लगभग 700 रुपए है। नेटिवो दो फंफूदीनाशकों Tebuconazole और Trifloxystrobin से मिलकर बना है। यह एक सिस्‍टेमिक फंफूदीनाशक है। इसमें शामिल Tebuconazole फंगस की कोशिकाओं के के ढांचा निर्माण प्रक्रिया में घुस जाता है और फंगस के पुनर्निमाण और बढोतरी को रोक देता है। वहीं Trifloxystrobin पौधे में मौजूद रोगजनक कवक (फंगस) के श्‍वसन को बाधित करता है।


Neck Blast
ये भी पढ़ें- पूर्वानुमान : बासमती धान में नहीं है मंदी के आसार


इस तरह यह फंगस पर नेटिवो दो तरफा हमला करता है। एक ओर यह फंकस को नियंत्रित करता है वहीं दूसरी और पौधे को स्‍वस्‍थ होने में भी सहायता करता है। नेटिवो के छिड़काव से धान के पौधे का झंडा पत्‍ता (सबसे ऊपर का पत्‍ता जो बाली की डंडी के साथ होता है) आखिर तक हरा रहता है। इससे धान की क्‍वालिटी बेहतर होती है।

आइसोप्रोथिओलेन (Isoprothiolane)

गर्दन तोड़ के प्रभावित नियंत्रण में आइसोप्रोथिओलेन (Isoprothiolane 40% EC) एक प्रभावी फंफूदीनाशक है। यह एक सिस्‍टेमिक कवकनाशक है। इसका एक छिड़काव उस वक्‍त कर देना चाहिए जब बालियां निकलने वाली हो। दस दिन के अंतराल के बाद दूसरा छिड़काव किया जा सकता है। एक एकड़ के लिए 200 लीटर पानी में 400 ग्राम दवा का प्रयोग करना चाहिए। आइसोप्रोथिओलेन के साथ वेलडामाइसिन 400 ग्राम भी मिलाई जा सकती है।


Neck Blast
Isoprothiolane 40% EC को टाटा रैलीज कंपनी फूजी वन (FUJIONE) के नाम से बेचती है। वहीं पारिजात इंडस्‍ट्रीज इसे फ्यूका (FUKA) नाम से बाजार में बेचती है। राइजो नाम से अतुल कंपनी भी इसे बेचती है। आइसोप्रोथिओलेन का रेट प्रति लीटर 600/700 रुपए है।

पिकोक्सिस्‍ट्रोबिन (picoxystrobin)

पिकोक्सिस्‍ट्रोबिन एक ब्रॉड स्‍पेक्‍ट्रम फंफूदीनाशक है। इसका अर्थ हुआ कि यह बहुत से जीवों को नियंत्रित करने में सक्षम है। स्‍ट्रोबिल्‍यूरिन समूह का यह कवकनाशी अनाजों में फंगस की रोकथाम में बहुत सहायक है। पिकोक्सिस्‍ट्रोबिन (picoxystrobin) फंगस को न केवल समाप्‍त करता है बल्कि यह फंगस की उत्‍पत्ति को भी रोकता है। पिकोक्सिस्‍ट्रोबिन का पहला छिड़काव बासमती धान में 10-20 फीसदी बालियां निकलते ही और दूसरा छिड़काव पहले छिड़काव के 14 दिन बाद करना होता है। दो छिड़काव गर्दन तोड़ (Neck Blast) को रोकने के लिए काफी है।


Neck Blast
पिकोक्सिस्‍ट्रोबिन कवकनाशी को फिलहाल बाजार में ड्यूपोंट गैलीलियो (DuPont Galileo) और गैलीलियो वे (DuPont Galileo way) नाम से बेच रही है। गैलीलियो काफी महंगी दवा है। 200 ग्राम दवाई का 200 लीटर पानी में मिलाकर करना चाहिए। गैलीलियो का रेट लगगभ 4000 रुपए लीटर है। इसका प्रयोग पीबी 1, डीपी 1401, पूसा 1637 और पूसा 1728 में किया जाना चाहिए। इन किस्‍मों में गर्दन तोड़ ज्‍यादा आती है। वहीं गैलीलियो वे सस्‍ती दवा है। यह लगभग 1800 रुपए लीटर आती है। 200 ग्राम दवा का छिड़काव 200 लीटर पानी में मिलाकर एक एकड़ में किया जाता है। इसके छिड़काव की सिफारिश पूसा 1121 में करने की जाती है क्‍योंकि पूसा 1121 में गर्दन तोड़ का हमला थोड़ा होता है।

क्रिसोक्सिम मिथाइल (Kresoxim methyl)

स्‍ट्रोबिल्‍यूरिन समूह का फंगीसाइड है क्रिसोक्सिम मिथाइल (Kresoxim methyl 44.3% SC)। यह एक सिस्‍टेमिक कवकनाशी है। डाउनी मिल्‍ड्यू, पाउडरी मिल्‍ड्यू और गर्दन तोड़ के प्रभावी नियंत्रण के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। क्रिसोक्सिम मिथाइल का एक स्‍प्रे जब बालियां निकलने वाली हों, तब करना चाहिए। 15 दिन तक यह कारगर रहता है। इसकी एक ही स्‍प्रे करनी चाहिए। बाद में जरूरत पड़ने पर दूसरे कवकनाशियों का छिड़काव करने की सलाह दी जाती है।


Neck Blast
बाजार में टाटा रैलीज (Tata Rallis) कंपनी क्रिसोक्सिम मिथाइल ERGON ब्रांड नाम से बेचती है। इसके छिड़काव से न केवल गर्दन तोड़ पर निंयत्रण पाया जाता है बल्कि यह धान की फसल में हरियाली बढाती है और दानों को भी वजन प्रदान करती है। एक एकड़ में 200 ग्राम दवा का छिड़काव 200 लीटर पानी में मिलाकर किया जाता है। ERGON का रेट लगभग 4000 रुपए लीटर है।

loading...