अब CAI ने भी माना कि कम पैदा होगी कपास

CAI cotton prediction

इन्‍फोपत्रिका, खेती डेस्‍क
चालू खरीफ सीजन में कपास का उत्पादन घटकर 343.25 लाख गांठ (एक गांठ-170 किलो) होने का अनुमान कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (CAI) ने जताया है। सीआईए ने अपने पहले अनुमान में उत्‍पादन 348 लाख गांठ बताया था। पिछले साल देश में 365 लाख गांठ कपास का उत्‍पादन हुआ था। एसोसिएशन की नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार 2018-19 के मार्केटिंग सीजन (अक्टूबर–सितम्बर) में 23 लाख गांठ के बकाया स्टॉक, 343.25 लाख गांठ के अनुमानित उत्पादन एवं 24 लाख गांठ के संभावित आयात के साथ कपास की कुल उपलब्धता 390.25 लाख गांठ तक पहुंच सकती है।

इसलिए कम होगा उत्‍पादन

CAI cotton prediction
कॉटन एसोसिएशन आफ इंडिया (CAI) के अध्यक्ष अतुल एस. गणात्रा ने बताया कि चालू सीजन में गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और ओडिशा के कई जिलों में सूखे से कपास के उत्पादन अनुमान में कमी आने की आशंका है। अक्टूबर के आरंभ में उद्योग ने चालू खरीफ सीजन में 348 लाख गांठ कपास के उत्पादन का अनुमान जारी किया था जबकि इसके पिछले साल 365 लाख गांठ का उत्पादन हुआ था।


ये भी पढ़ें- कपास के भाव में गिरावट के आसार कम

CAI का अनुमान, खपत में नहीं होगी कमी

CAI का का कहना है कि कपास खपत में गिरावट नहीं आएगी । बड़ी-बड़ी टेक्सटाइल मिलों में 280 लाख गांठ तथा छोटी-छोटी इकाइयों में 29 लाख गांठ रुई की खपत हो सकती है। इसके अलावा 15 लाख गांठ की खपत अन्य उद्देश्यों में होने की संभावना है। इस तरह 324 लाख गांठ की खपत होगी। इसके बाद देश में 66.25 लाख गांठ का स्टॉक बचेगा जिसमें से 51 लाख गांठ का निर्यात हो सकता है और इस तरह सीजन के अन्त में 15.25 लाख गांठ रुई का स्टॉक बच जाएगा।

पिछले साल कुल उपलब्‍धता थी ज्‍यादा

2017-18 सीजन के आरंभ में 36 लाख गांठ के बकाया स्टॉक, 365 लाख गांठ के उत्पादन तथा 15 लाख गांठ के आयात के साथ कपास की कुल उपलब्धता 416 लाख गांठ आंकी गई। इसमें से 280 लाख गांठ की खपत बड़ी-बड़ी टेक्सटाइल मिलों में तथा 29 लाख गांठ की खपत छोटी इकाइयों में हुई जबकि 15 लाख गांठ का उपयोग अन्य उद्देश्य में किया गया। इस तरह कुल 324 लाख गांठ रुई की खपत हुई। इसके बाद 92 लाख गांठ का स्टॉक बच गया जिसमें से 69 लाख गांठ का विदेशों में निर्यात किया गया। इसके बाद सीजन के अंत में कुल 23 लाख गांठ कपास का बकाया अधिशेष स्टॉक (कैरी ऑवर) बच गया।

loading...