किसानों को मिलेंगे बासमती 1121 के अच्‍छे दाम

Basmati paddy rate

इन्‍फोपत्रिका बिजनेस डेस्‍क


3200 रुपए तक बिक चुका 1509 धान अब लगभग 500 रुपए की गिरावट के साथ 2700 रुपए बिक रहा है। 1509 में एकदम आई इस गिरावट से किसानों के साथ व्‍यापारी भी स्‍तब्‍ध हैं। बाजार में अब कुछ लोग आने वाली बासमती 1121 और डीपी के भावों में मंदा रहने की चर्चा करने लगे हैं। लेकिन चावल बाजार पर पैनी नजर रखने वाले जानकारों का कहना है कि इस बार बासमती 1121 के भाव तेज ही रहेंगे। सीजन में 1121 के 3500 रुपए तक बिकने के पूरे आसार हैं। बासमती में इस सीजन आई यह तेजी बनावटी नहीं है। इसलिए किसानों और व्‍यापारियों को घबराना नहीं चाहिए। अनाप-शनाप तेजी भले ही न हो, लेकिन भाव अच्‍छे रहेंगे।

1509 के बेस रेट

Basmati 1121 rate
Image : infopatrika.com

बासमती के घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय बाजार के विशेषज्ञ अमृतसर के नीरज शर्मा का कहना है कि 1509 में आई गिरावट को हमें बाजार के करेक्‍शन की तरह लेना चाहिए। 2600 रुपए 1509 का बेस प्राइस है। बाजार की अगर हम गहराई से पड़ताल करने से पता चलता है कि 1509 में अब आगे भारी गिरावट की कोई गुंजाइश नहीं है। हो सकता है कि अगले सप्‍ताह से 1509 में तेजी का झोंका आए। नीरज का कहना है कि 1509 में 3200 रुपए होने से स्‍टॉकिस्‍ट इससे दूर हो गए क्‍योंकि इस भाव पर स्‍टाक करना उन्‍हें फायदे का सौदा नजर नहीं आया। भाव तेज होते इन्‍होंने बाजार से हाथ खींच लिए। जैनुअन बायर के हटते ही बाजार में मंदा आ गया। अब जब रेट ठीक हो गए हैं तो ये जैनुअन बायर एक बार फिर बाजार में लौटने लगे हैं। अब जो खरीददार बाजार में बचे हैं वो जेनुअन बायर हैं। वे मांग और आपूर्ति पर नजर रखकर ही खरीददार कर रहे हैं।


ये भी पढ़ें- जानिए, बुधवार को क्‍या रहे बासमती धान और चावल के ताजा भाव

बासमती 1121 में तेजी के आसार

पिछली बार अच्‍छे भाव न मिलने और प्रति एकड़ उत्‍पादन कम होने से हरियाणा और पंजाब के किसानों का इस बार बासमती 1121 से मोहभंग हो गया। इस बार 1121 का उत्‍पादन लगभग 40 फीसदी कम होगा। नीरज का कहना है कि इस बार बासमती 1121 का कैरी आवर स्‍टॉक नहीं है। इसलिए मांग ज्‍यादा होगी और आपूर्ति कम। यह स्थिति भाव को बढ़ाएगी। डीपी 1401 और पीबी वन के भाव भी अच्‍छे रहने के आसार हैं।


नीरज शर्मा का कहना है कि 1121 अगर अंडर 3000 रुपए खुलती है तो इस रेट पर बाजार में स्‍टॉक करने वाले बहुत ट्रेडर हैं। 3000 के भीतर रेट खुलने पर लगभग हर ट्रेडर स्‍टॉक कर सकता है। वहीं अगर 1121 3200-3500 खुलती है तो इस रेट पर हर ट्रेडर स्‍टॉक नहीं कर सकता। इतने उंचे रेट पर स्‍टॉक करने वाले बाजार में बहुत कम व्‍यापारी हैं। ट्रेडर को 3200-3500 वाला धान खर्चे सहित 3700-4000 पड़ता है। स्‍टॉक किया धान 4500-5000 बिकने पर ही उसे मुनाफा होता है। नीरज शर्मा का कहना है कि इस सीजन 1121 3500 रुपए तक बिक सकती है। 3000 हजार के भीतर रेट खुलने पर हर व्‍यापारी अपनी हैसियत अनुसार माल का स्‍टॉक करेगा। मिलर्स और एक्‍पोर्टर्स भी इस रेट पर अच्‍छी खरीदारी करेंगे।


बाजार में जब तेजी आती है तो कुछ ऐसे लोग भी अचानक ज्‍यादा खरीददारी करनी शुरू कर देते हैं जो व्‍यापार के मूल नियमों की अनदेखी कर पैसा कमाना चाहते हैं। ये लोग कुछ दिन बड़ी खरीददारी करते हैं जिससे अचानक भाव बढ़ जाते हैं। जो जैनुअन बायर होते हैं वो बाजार से दूर हो जाते हैं। उनके दूर होते रेट उसी जगह आ जाते हैं, जहां उन्‍हें होना चाहिए। 1509 के साथ भी इस बार यही हुआ था।

Leave a Reply

loading...