2000 के नोट पर मोदी सरकार का एक और बड़ा, मगर छिपा हुआ फैसला!

India Currency New

इन्फोपत्रिका, नई दिल्ली।

पिछले कुछ दिनों से मझोले व्यापारियों की तरफ से मिल रही 2000 रुपये के नोट की शिकायतों में अब सच नज़र आने लगा है। माना जा रहा है कि सरकार के प्लान के मुताबिक RBI ने सबसे बड़े नोट की सप्लाई कम कर दी है। बताया जा रहा है कि अब छोटे नोट ज्यादा प्रचलन में होंगे। कुछ दिन पहले आई 200 रुपये के नोट वाली ख़बर की सरकार के इसी प्लान की एक कड़ी थी।

2000 rupee note

सूत्रों से मिली ताज़ा जानकारी के अनुसार, RBI ज्यादा छोटे नोटों की सप्लाई इसलिए बढ़ा रहा है ताकि 2000 के नोट को बिलकुल हटा लिया जाए। हालांकि माना जा रहा है कि ऐसा कोई आधिकारिक ऐलान नहीं होगा। जानकारी ये भी है कि एक बड़े बैंक ने अपने ATMs को री-कैलिब्रेट करना शुरू कर दिया है।

500 rupee notes

क्या है और क्यों है

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, 11 अप्रैल को नोट छापने को लेकर प्रॉडक्शन प्लानिंग की बैठक में RBI ने 2000 रुपये के 100 करोड़ नोट छापने की बात रखी थी, जिसे कि वित्त मंत्रालय ने खारिज़ कर दिया। मंत्रालय चाहता है कि छोटे नोटों की छपाई ज्यादा हो।

India Currency New
इसके पीछे सरकार द्वारा कैशलेस सोसायटी की योजना को वजह बताया जा रहा है। बड़े नोटों के गायब होने से काले धन पर भी लगाम लगेगी और लोग 100-200-500 के नोटों में ही लेन-देन करेंगे। बड़े लेन-देन करने के लिए चेक या फिर इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करना अनिवार्य हो जाएगा।

बात पते की- बुढ़ापे में भी जवानी चाहिए, तो शुरू कर दो ये काम

loading...