पेट्रोल-डीजल के बारे में वित्‍त मंत्री ने बताई बड़ी बात

Duty on oil

रविन्द्र कुमार सैनी / इन्फोपत्रिका
विपक्षी दलों के प्रदर्शन और चौतरफा दबाव के बाद भी केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर कोई फैसला नहीं लिया। बल्कि द इकोनॉमी एंड द मार्केट रिवॉर्ड स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स एंड फिस्कल प्रुडेंस नाम से फेसबुक पर लिखे आर्टिकल में वित मंत्री जेटली ने कड़े संकेत जरूर जाहिर कर दिए। उन्होंने आर्टिकल के जरिए सीधा सीधा संकेत दिया कि तेल पर एक्साइज ड्यूटी नहीं घटेगी।


 Duty on oil

दुनिया में सबसे तेजी से बढ रहे है हम

उन्होंने कहा कि 4 साल में केंद्र ने टैक्स जीडीपी दर 10 प्रतिशत से 11.5 प्रतिशत हो गई है। जीडीपी में नॉन ऑयल टैक्स का स्तर 2017-18 में 9.8 प्रतिशत पर पहुंच गया। 2007-08 के बाद से से यह उच्चतम स्तर है। फेसबुक पोस्ट के जरिये वित्तमंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 7.7 फीसदी की बढ़ोतरी से साबित हो गया कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और यह आने वाले समय में भी बनी रहेगी।

मनमोहन और सिन्‍हा के दावों का निकला दम

नोटबंदी पर भी जेटली ने विपक्ष के दावों को नकारते हुआ कहा कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने दावा किया था कि जीडीपी में 2 फीसद की गिरावट आएगी लेकिन उनका ये दावा खोखला साबित हुआ। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि देश में गरीबी का आंकड़ा बढ़े जाएगा। लेकिन इन सबको दरकिनार करते हुए भारत की अर्थव्यवस्था में तेजी आई है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से दो तिमाही तक चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों का सामना करना पड़ा लेकिन संरचनात्मक सुधारों के लिए यह जरूरी था।

loading...