सिगरेट नहीं अपने बच्‍चों की जिंदगी जला रहे हैं आप

smoking

इन्‍फोपत्रिका हेल्‍थ डेस्‍क


अगर आप धुम्रपान करते हैं और ये चाहते हैं कि आपके बच्‍चों का स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहे तो आपको आज ही अपनी इस लत से तौबा कर लेनी चाहिए। अमेरिकन कैंसर सोसायटी के एक अध्‍ययन में सामने आया है कि जो मां-बाप घर में सिगरेट पीते हैं, उनके बच्‍चों के गंभीर बीमारियों की चपेट में आने की संभावना बहुत ज्‍यादा होती है। अमरीका कैंसर सोसाइटी के अध्ययन में 70,900 सिगरेट न पीने वाले पुरुष और महिलाओं को शामिल किया गया था जिनके मां-बाप सिगरेट पीते थे। इस अध्ययन को अमरीकन जर्नल ऑफ़ प्रिवेंटिव मेडिसिन में प्रकाशित किया गया है।


smoking
Image : Google

इन बीमारियों का होता है खतरा

शोध के अनुसार बच्चा अगर सप्ताह में 10 या उससे ज़्यादा घंटे सिगरेट के धुएं के साए में होता है तो उसे दिल की बीमारी होने की आशंका 27 फ़ीसदी तक बढ़ जाती है। वहीं मस्तिष्क आघात की आशंका 23 फ़ीसदी और फेफड़े की जानलेवा बीमारी होने का जोख़िम 42 फ़ीसदी तक बढ़ जाता है। अध्ययन में यह भी बताया गया है कि सिगरेट पीने वाले मां-बाप के साथ रहने वाले बच्चे को दमा हो सकता है और फेफड़े का विकास प्रभावित हो सकता है।

इसलिए होते हैं बीमार

ये बीमारी पैसिव स्मोकिंग की वजह से बच्‍चों को हो सकती है। पैसिव स्मोकिंग यानी जब एक शख़्स सिगरेट पी रहा होता है तो उसके आसपास के लोगों को अनायास ही धुआं अपने अंदर लेना पड़ता है। अध्ययन में शामिल 70,900 लोगों से वैसे वक़्त का हिसाब-किताब लिया गया जब वो अपने मां-बाप के सिगरेट के धुएं के बीच थे। 22 सालों तक उनके स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया था।

loading...