हिन्दू कैलेंडर भी कहता है 14 दिन में एक दिन का उपवास जरूरी है

obesity fat man india

रविन्द्र कुमार सैनी/ इन्फोपत्रिका हेल्थ
बहुत से लोगों से भूखा नहीं रहा जाता. मतलब ये कि वो कुछ न कुछ खाते रहते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा है तो समय रहते संभल जाइये. नहीं तो मोटापे जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ सकते हैं. आज हम इसी विषय में आपको कुछ जरूरी जानकारियां देने जा रहे हैं.

हमारे शरीर में है मंडल

हमारे शरीर में प्राकृतिक चक्र से जुड़ी मंडल नामक एक चीज होती है, जिसका मतलब है 40 से 48 दिनों में हमारा शरीर एक खास चक्र से होकर गुजरता है. हर चक्र में 3 से 4 दिन ऐसे होते हैं जिनमें शरीर को भोजन की जरूरत नहीं होती. इनमें से किसी भी एक दिन हम बिना भोजन के रह सकते हैं.
ये भी पढ़ें – दिल के दौरे से अलग है का कार्डिअक अरेस्ट, जानिए ये है क्याएक दिन करें उपवास

अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं तो समय रहते अपनी खानपान की आदतों को सुधारें. पहले सही तरह से खाने का शेड्यूल बनाएं. उसके बाद उपवास करें. अगर आप जबरदस्ती खाना बंद करने की कोशिश करेंगे तो यह आपके शरीर के लिए हानिकारक भी हो सकता है.

एक दिन होता है शरीर के आराम का

हिन्दी महीने के हिसाब से हम देखें तो हर माह में 14 दिनों के बाद एकादशी आती है. इसका मतलब ये होता है कि हम हर 14 दिनों के बाद एक दिन बिना खाने के रह सकते हैं. इस दिन को उपवास के तौर पर लेकर हम शरीर की मशीनरी को आराम दे सकते हैं. वो एक दिन उनमें से कौन सा है यह आपको तय करना है. हालांकि एकादशी का दिन इसलिए तय किया गया कि सबको वो दिन याद रह सके. इसलिए आप भी एकादशी के दिन उपवास कर सकते हैं.
ये भी पढ़ें – केवल शाकाहारी लोगों के लिए है ये न्यूज़

फलाहार करें तो भी अच्छा

अगर हमारा कामकाज ऐसा है कि हम बिना खाने के एक दिन भी नहीं रह सकते तो एक दिन ऐसा निकालें कि उस दिन फलाहार ही लें. फलाहार हमारे शरीर को संतुलित रखने में मदद करते हैं और साथ ही शरीर को पौष्टिक तत्व भी प्रदान करते हैं.

loading...