लिखकर घर की दीवार पर चिपका लें नीम के इन गुणों को!

neem tree with seeds नीम

रविन्द्र कुमार सैनी / इन्फोपत्रिका हेल्थ डेस्क.
वैसे तो पर्यावरण के लिए हर पेड़ जरूरी है, लेकिन क्या आप जानते हैं सभी पेड़ों में से इकलौता नीम (Neem) का पेड़ ऐसा है जो सभी पेड़ों में सबसे ज्यादा लाभदायक है. इसके तने से लेकर इसका फल तक हमारे लिए बेहद लाभदायक है.

नीम आयुर्वेद, प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी और होम्योपैथिक दवाओं में प्रयोग की जानी वाली जड़ी बूटी है. नीम को संस्कृत भाषा में अरिष्ट भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है श्रेष्ठ, पूर्ण और कभी खराब न होने वाला.

नीम (Neem) में 140 से अधिक यौगिक

नीम के विभिन्न भागों में 140 से अधिक यौगिक मौजूद है, जोकि जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, दर्दनाशक, ज्वरनाशक, एंटीसेप्टिक, मधुमेह विरोधी, फंगसरोधी, रक्त को शुद्ध करने वाला, शुक्राणुनाशक, जीवाणुरोधी है. इसके पत्ते मुंहासे, छाले, खाज-खुजली, एक्जिमा आदि को दूर करते हैं. आज हम आपको बताते हैं कि नीम कैसे हमें फायदा पहुंचा सकता है. इसके पत्ते 34 देशों में निर्यात भी किए जाते हैं. इसका अर्क मधुमेह, कैंसर, हृदयरोग, हर्पीस, एलर्जी, अल्सर, हिपेटाइटिस (पीलिया) के इलाज में मदद करता है.

प्राचीन ग्रंथों में भी किया गया है इसका बखान

नीम के बारे में हमारे प्राचीन ग्रंथों में भी इसका जिक्र है. चरक संहिता और सुश्रुत संहिता में इसके लाभकारी गुणों के बारे में बताया गया है. पूरे पेड़ में लाभकारी गुण होने के कारण इसे सर्वरोग निवारिणी नाम भी दिया गया है.

नीम के विस्तृत फायदे- क्लिक करें

ये भी पढ़ें- कभी न खाएं सेब के बीज, सायनाइड होता है इनमें

loading...