प्रोटीन की कमी से क्या होता है और कैसे इसकी कमी दूर करें?

protein deficiency

इन्फोपत्रिका, हेल्थ डेस्क.
अक्सर डॉक्टर हमें संपूर्ण आहार लेने के लिए कहते हैं. लेकिन यह संपूर्ण आहार होता क्या है? संपूर्ण आहार में वह कौन सी चीज होती है जो हमारे सामान्य आहार में नहीं होती? ऐसी चीज है प्रोटीन. यदि आहार में प्रोटीन की कमी है यह प्रोटीन बिल्कुल भी नहीं है तो समझ ले कि हमारा आहार संपूर्ण नहीं है. इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि शरीर में प्रोटीन का होना क्यों जरूरी है और यदि प्रोटीन की कमी होगी तो हमारे शरीर पर कौन-कौन से असर पड़ेंगे.

कितना प्रोटीन चाहिए और कैसे चाहिए?

सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि हमारे शरीर को कितना प्रोटीन चाहिए होता है. और यह भी अनिवार्य है कि हमें पता हो कि प्रोटीन का स्रोत कहां से हो. दरअसल प्रोटीन की जरूरत हमारे वजन और जो कैलरीज हम लेते हैं उन पर निर्भर करती है. डॉक्टर मानते हैं कि जो कैलरीज हमारे शरीर के लिए अनिवार्य हैं उसका लगभग 30 से 35% तक का हिस्सा प्रोटीन से मिलना चाहिए. उदाहरण के लिए यदि हमारे शरीर को हर रोज 2000 कैलरीज की जरूरत है तो उसमें से 600 कैलरीज प्रोटीन से आनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- क्या है कोलेस्ट्रॉल, इससे क्या है ख़तरा, जानिए

प्रोटीन की कमी से शरीर पर होते हैं ये असर

1. शरीर सख्त होने लगता है और लचीलापन गायब हो जाता है.
2. प्रोटीन की कमी से शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की संख्या बेहद कम हो जाती है.
3. रक्त में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है, जो सीधे-सीधे शारीरिक कमजोरी का संकेत है.
4. खून में शर्करा का स्तर भी काफी कम हो जाता है. इससे भी हमें थकान महसूस होती है.
5. शरीर में प्रोटीन कम होने से बार बार भूख लगने का एहसास होता है.
6. बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं और नाखून भी टूटने लगते हैं.
7. सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह होती है कि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कम हो जाती है. बीमारियां आसानी से घेर लेती हैं.

ये भी पढ़ें- बिना हीटर यूं गर्म कर सकते हैं आप अपने घर को

कहां से पाएं प्रोटीन

1. दूध प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत होता है. खास बात यह है कि दूध आसानी से उपलब्ध होता है. दूध में कैल्शियम और विटामिन डी भी होते हैं.
2. ज्यादातर दालों में अच्छा खासा प्रोटीन पाया जाता है. कोशिश करनी चाहिए कि हर दूसरे या तीसरे दिन दाल का सेवन किया जाए. हालांकि प्रोटीन को प्रतिदिन किसी ना किसी तरीके अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए.
3. सूखे मेवों में काफी प्रोटीन होता है. आप बादाम ले सकते हैं. अखरोट में भारी मात्रा में प्रोटीन और अन्य मिनरल पाए जाते हैं.
4. यदि आप सी फूड के शौकीन है तो आपको मछली का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि इसमें प्रोटीन और फाइबर काफी मात्रा में होते हैं.
5. हालांकि अंडे के बारे में अलग-अलग लोगों की अलग-अलग राय है. कुछ लोग इसे शाकाहारी तो कुछ लोग इसे मांसाहारी खाने में शामिल करते हैं. यदि आप अंडा खाते हैं तो अंडे को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें.
6. यदि हो सके तो आप सोया मिल्क पीयें. हो सकता है कि आपको इसका टेस्ट ज्यादा अच्छा ना लगे मगर यकीन कीजिए प्रोटीन का इससे अच्छा स्रोत ना तो मांसाहार में है और ना ही किसी अन्य आहार में.

ये भी देखिए- कहीं आप नकली अंडे तो नहीं खा रहे, जानिए नकली और असली का फर्क

loading...