अगर आप भी EarPhone लगाकर सुनते हैं म्यूज़िक तो सावधान

earphone side effects

इन्फो पत्रिका हेल्थ डेस्क >>

इयरफोन युवाओं का पसंदीदा गैजेट है। ये गैजेट ही अब कानों का दुश्मन बन गया है। विश्वभर में इयरफोन के कारण युवा बहरेपन की ओर बढ रहे हैं। ज्यादा समय तक इयरफोन का इस्तेमाल करने से न केवल सुनन की शक्ति कमजोर हो रही है बल्कि इससे बैक्टिरिया का हमला भी बढ रहा है।
बोस्टन चिल्ड्रन हास्पिटल के डायग्नोस्टिक ऑडियालॉजी डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डा. ब्रेन फ्लीगोर का कहना है कि जो लोग 90 डेसीबल से ज्यादा ऊंची आवाज पर इयरफोन से संगीत सुनते हैं, उनकी सुनने की क्षमता बिलकुल ही जा सकती है। युवा ज्यादा देर तक ऊंची आवाज में म्यूजिक सुनते हैं। इससे दिक्कत हो रही है। उनके कान बजने लगते हैं। बिना किसी आवाज के भी उनको ऐसा लगता है जैसे कुछ बज रहा है। उनके कान में सीटियां सी बजती है और झनझनाहट होती है। चींचीं की आवाज आती है। यह बहरेपन के लक्षण हैं। मैनचेस्टर इविनिंग न्यूज में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार अगर एक ही इयरफोन का इस्तेमाल दो लोग करते हैं तो इससे हानिकारक बैक्टिरिया का हमला बढ जाता है। इसलिए इयरफोन को शेयर नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें- ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए, मगर क्यों? जानिए

ऐसे करें इस्तेमाल

1. इयरफोन का प्रयोग करते वक्त आवाज को कम रखें।
2. ऐसे इयरफोन का प्रयोग न करें जो आपके कान की नली में ठुंस जाते होंं। इससे साउंड वेव सीधे काम के पर्दे से टकराती हैं और उसे भारी नुकसान पहुंचाती हैं।
3. यदि आपका काम ऐसा है कि इयरफोन लगाना ही पड़ता है तो एक घंटे तक इयरफोन लगाने के बाद कम से कम पांच मिनट के लिए उसे हटा दें।
4. इयरफोन को दूसरों से शेयर न करें।
5. इयरफोन को समय-समय पर साफ करें।

[related_post themes=”flat”]

Leave a Reply

loading...