बड़ी ख़बर: GST में फर्टीलाइजर पर टैक्स 12 से घटकर 5% हुआ

GST impact on farmers

इन्फोपत्रिका, नई दिल्ली।

GST काउंसिल ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए फर्टीलाइजर (खाद) और ट्रैक्टर के कल पुर्जों पर लगने वाले टैक्स को कम कर दिया है। अब फर्टीलाइजर पर GST के तहत 12% की बजाय 5% टैक्स देना होगा। शुक्रवार को GST काउंसिल की मीटिंग में इस विषय पर ये अहम फैसला लिया गया। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस फैसले की जानकारी दी।

GST impact on farming

ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर भी राहत

GST काउंसिल ने ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर टैक्स की दर को 28% से घटाकर 18% कर दिया है। ट्रैक्‍टर निर्माण के लिए जरूरी पुर्जों पर पहले 5 से 17% तक टैक्स लगता था, जिसे शुरू में GST काउंसिल ने 18 से 28% कर दिया था। अब काउंसिल ने ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर GST के तहत 18% टैक्स फाइनल किया है।

किसानों पर भारी पड़ता 12% टैक्स

फर्टीलाइजर पर 12% टैक्स लगाए जाने को लेकर कई राज्यों ने चिंता जताई थी। उनका कहना था कि इससे किसानों को नुकसान उठाना पड़ेगा। राज्यों की इस चिंता को देखते हुए ही GST काउंसिल ने फर्टीलाइजर पर टैक्स कम करने का फैसला लिया है।

पहले 0 से 8 प्रतिशत के दायरे में है खाद

देश में हर साल करीब 22.4 करोड़ टन खाद्यान्‍न का उत्पादन होता है। खाद्यान्‍न और अन्‍य फसलें उगाने के लिए देश में हर साल लगभग 550 लाख टन फर्टीलाइजर्स का इस्‍तेमाल होता है। अभी तक फर्टीलाइजर्स 0 से 8% के टैक्‍स स्‍लैब में थे, लेकिन GST के बाद ये 12% के स्‍लैब में रखे गए थे। अगर 12% टैक्स रहता तो एक यूरिया बैग (50 किलो) की कीमत में 35 रुपए तक की बढ़ोतरी होती। फिलहाल GST काउंसिल ने किसानों को बड़ी राहत दी है।

इससे पहले ये था – किसानों को लूटने का काम करेगा GST

loading...