आईपीएल 2018 : क्‍या बुड्ढा हो चुका है युवराज का बल्‍ला

IPL 2018 : Yuvraj Singh

इन्‍फोपत्रिका क्रिकेट डेस्‍क


छक्‍कों के बादशाह युवराज सिंह (Yuvraj Singh) की टीम किंग्‍स इलेवन पंजाब ने भले ही आईपीएल 2018 (IPL 2018) की शानदार शुरूआत की है लेकिन युवी के लिए आईपीएल 2018 का पहला मैच निराशाजनक ही रहा। बल्‍ले से वो बुरी तरह फ्लाप रहे। जहां एक और केएल राहुल, केके नायर और स्‍टॉयनिस के बल्‍ले रन उगल रहे थे तो दूसरी ओर युवी का बल्‍ला खामोश रहा। आईपीएल को भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होने की सीढी मान रहे युवराज सिंह ने अगर आने वाले कुछ मैचों में जलवा नहीं दिखाया तो अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में उनकी वापसी की राह और कठिन हो जाएगी। हालांकि बहुत से क्रिकेट विशेषज्ञ तो पहले ही युवराज के क्रिकेट कॅरियर को चुका मान चुके हैं।


IPL 2018 : Yuvraj singh
Image : Instagram

लय में नहीं दिखे युवी

मैच में युवराज सिंह लय में नजर नहीं आए। मयंक अग्रवाल के आउट होने के बाद वन डाउन पर बैटिंग करने आए युवराज शुरू से ही दबाव में नजर आए। जिस आक्रामकता के लिए वो जाने जाते हैं, वो गायब थी। एक तरफ जहां किंग्‍स इलेवन पंजाब (Kings xi Punjab) लोकेश राहुल बेरहमी से दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स (Delhi Daredevils) के गेंदबाजी की धुनाई कर रहे थे, वहीं युवी उनसे दबे नजर आ रहे थे। युवी का नैसर्गिक खेल गायब था। रन बनाने के लिए वो जुझते नजर आ रहे थे। युवराज सिंह ने 22 गेंदों का सामना कर केवल 12 रन बनाए। युवराज के चाहने वालों को उनसे ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी की उम्‍मीद थी। शुरूआत में जब युवराज बल्‍लेबाजी के लिए स्‍ट्राइक पर आए तो दर्शकों ने जोरदार तरीके से शोर मचाते हुए उनका स्‍वागत किया और युवी-युवी के नारे लगाए। दर्शकों में तो जोश भरपूर था लेकिन मोहाली में रविवार को युवी का बल्‍ला खामोशी में डूबा रहा। इससे दर्शकों को भी भारी निराशा हुई।


ये भी पढ़ें- केएल राहुल की आंधी में उड़ा दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स

क्‍या खेल पाएंगे दो-तीन आईपीएल और

युवराज सिंह ने कुछ दिन पहले अंग्रेजी वेबसाइट स्‍पोर्ट्स स्‍टार को दिए इंटरव्‍यु में कहा था कि अभी उनके सन्‍यास लेने का वक्‍त नहीं आया। युवी ने दावा किया था कि अभी उनमें 2-3 आईपीएल और खेलने का दम बाकि है। युवराज सिंह ने कहा कि वो आईपीएल को अपनी क्षमता एक बार फिर साबित करने का मौका मानते हैं और वो इसमें अच्‍छा प्रदर्शन करेंगे। साक्षात्‍कार में युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा कि क्रिकेट खेलना मेरा शौक है। इसमें मुझे मजा आता है। मैं इसलिए क्रिकेट खेल रहा हूं। मैं क्रिकेट इसलिए नहीं खेल रहा कि मुझे भारतीय टीम में जगह बनानी है।

कैंसर को हरा की थी वापसी

युवराज सिंह कैंसर के कारण तीन साल तक भारतीय टीम से दूर रहे। 2017 में उनका चयन चैंपियन ट्राफी खेलने गई भारतीय टीम में हुआ था। इस दौरे के बाद उनको टीम में नहीं चुना गया। इस पर युवराज सिंह का कहना है कि मैं एक रियल फाइटर हूं। मैं हर कठिन परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार हूं। मैं फिल्‍ड पर अपना सौ फीसदी देने के लिए जोर लगाता हूं।

loading...